Dhanteras 2020 Date: धनतेरस पर इन सब चीजों की खरीदारी से करना चाहिए परहेज, 2020 में क्या शुभ योग बन रहा और जानिए खरीदारी का सही समय

Dhanteras 2020 Date: धनतरेस…जी हां धनतरेस के दिन धनवंतरी, यमराज और धन की देवी लक्ष्मी और देवता कुबेर की पूजा का दिन होता है. मान्यता है कि इस दिन की गई खरीददारी से अक्षय फल प्राप्त होता है. इस बार धनतेरस 12 नवंबर को शाम 5 बजे लग रही है. यही वजह है कि उदया तिथि के अनुसार धनतेरस 13 नवंबर की और शाम को लगने के कारण 12 नवंबर दोनों दिन मनाई जाएगी.

धनतरेस की खरीदारी की बात करें तो प 12 और 13 नवंबर दोनों दिन खरीददारी कर सकते हैं. धनतेरस पूजा के लिए सबसे उपयुक्त समय प्रदोष काल एको माना जाता है. शाम के वक्त दीप जलाकर पूजा की जाती है. धनतेरस के दिन शाम को स्थायी मुहूर्त में मां लक्ष्मी की पूजा अर्चना करने से लाभ प्रात्त होता है.

मुहूर्त की बात

12 नंवबर को : सुबह 11:20 से 12:04 तक अभिजीत मुहूर्त

13 नंवबर को : सुबह 11:20 से 12:04 तक अभिजीत मुहूर्त


क्या करें खरीदारी : धनतेरस के दिन कलश,हल्दी की गांठ, झाड़ू खरीदना बहुत शुभ माना जाता है. झाड़ू खरीदने के पीछे मान्यता है कि धनतेरस के दिन घर की सफाई कर पुरानी झाड़ू की जगह नई झाड़ू लानी चाहिए. इसलिए इस दिन झाड़ू खरीदना शुभ बताया गया है. इस दिन धनिया के बीज, सोना-चांदी, धातु के बर्तन खासकर पीतल के बर्तन खरीदना भी बहुत शुभ माना जाता है.

धनतेरस के दिन यदि आप बर्तन लाते हैं तो उन्हें खाली नहीं रखना चाहिए. पूजा से पहले उनमें जलभरकर रखने को शुभ माना गया है. ऐसी मान्यता है कि देवी लक्ष्मी की तरह ही भगवान धन्वंतरि भी समुद्र मंथन से उत्पन्न हुए थे. भगवान धन्वंतरि के हाथ में अमृत कलश था, इसलिए इस दिन कलश खरीदने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. आप इस दिन खरीदे गए बर्तन में मिठाई भी रखने का काम कर सकते हैं.

ये भी जानें
-लोहे के सामान खरीदने से बचें
-कांच के सामान भूलकर भी न खरीदें
– धनतेरस के दिन यदि आप खरीदारी करने निकले हैं तो चाकू, कैंची व दूसरे धारदार हथियारों को खरीदने से बचना चाहिए.






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *