सियासत की शह-मात

शिवसेना के सियासत की हुई शाम!
उद्धव सरकार का हुआ काम-तमाम!!

महाराष्ट्र में फिर बीजेपी का राज!
फडणवीस के सिर फिर साजना था ताज!!

शिंदे बागी बनकर भी नायक बन गए!
बगावत की आग में उद्धव जल गए!!

शिवसेना के वजूद पर संकट मंडराया!
कल थे जो साथ ,आज हो गए पराया!!

महाविकास अघाढ़ी आज पिछाड़ी हो गई!
रंकपा-कांग्रेस की कहानी फिर पुरानी हो गई!!

कवि- शिव