Tuesday, April 23, 2024
Latest Newsकविताएं

चलो एक बस्ती बसाई जाए

चलो किसी कोने में एक बस्ती बसाई जाए!
बिखरे रिश्तो को एकबार फिर जोड़ा जाए!!

चलो इंसानियत का सबक सिखाया जाए!
रोटी सबको मिले ये पाठ पढ़ाया जाए!!

चलो अपने-पराये का खेल मिटाया जाए !
जिंदगी चीज क्या है ये बताया जाए!!

चलो मजहब के ठेकेदारों को लताड़ा जाए !
मोहब्बत-सोहबत का सलीका सिखाया जाए!!

चलो गुरबत की बस्ती में लोगों को हंसाया जाए!
अमीरों को गरीबों के दर्द का एहसास कराया जाए!!