Friday, March 1, 2024
Latest Newsअन्य खबरबड़ी खबर

पाकिस्तान में हिंदू मंदिर की मूर्तियां की गईं नष्ट, गुस्से में हिंदू

पाकिस्तान से एक ऐसी खबर आ रही है जिसकी चर्चा पूरे देश में हो रही है. दरअसल कराची में एक हिंदू मंदिर में स्थापित देवी-देवताओं की मूर्तियों को नष्ट करने का काम किया गया है जिससे वहां के हिंदू सकते में हैं. बताया जा रहा है कि कराची के पुराने शहर नारायणपुरा में स्थित नारायण मंदिर में सोमवार शाम को यह घटना हुई.

पुलिस ने इस बाबत जानकारी देते हुए कहा कि देवी-देवताओं की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त करने के आरोप में मोहम्मद वलीद शब्बीर नाम के शख्स को गिरफ्तार किया गया है. शख्स को मुकेश कुमार नाम के हिंदू व्यक्ति की शिकायत के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. बताया जा रहा है कि कुमार अपनी पत्नी के साथ नारायण मंदिर में पूजा कर रहे थे तभी उनकी नजर उक्त शख्स पर पड‍ी जो हथौड़े से हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियों को तोड़ रहा था.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने पूरा घटनाक्रम बताया और कहा कि मंदिर में मौजूद गुस्साए हिंदू समुदाय के लोगों ने बदमाश को पकड़ लिया और उसे पुलिस को सौंप दिया. बाद में इलाके के हिंदू निवासियों ने थाने के बाहर प्रदर्शन किया. घटना के बाद से इलाके में हिंदू खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि इलाके में अधिकतर आबादी गरीब और कम आय वाले हिंदू परिवारों की है.

इन घटनाओं को भी जानें

पाकिस्तान के अन्य हिस्सों में हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की घटनाएं भी हुई हैं. अक्टूबर में, कोटरी शहर में सिंधु नदी के तट पर स्थित एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर को अज्ञात लोगों ने अपवित्र करने का काम किया था.

-अगस्त में, पंजाब के रहीम यार खान जिले के गणेश मंदिर में 200 से अधिक लोगों की भीड़ ने तोड़फोड़ की थी.

-मार्च में, अज्ञात लोगों के एक समूह ने रावलपिंडी में 100 साल से ज्यादा पुराने हिंदू मंदिर पर हमला किया था.

-पिछले साल दिसंबर में, खैबर पख्तूनख्वा के कराक जिले के तेरी गांव में सदियों पुराने श्री परम हंस जी महाराज मंदिर को कुछ स्थानीय धर्म गुरुओं के नेतृत्व में आई भीड़ ने तोड़ दिया था.

ये भी जानें : आंकडों के अनुसार पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं. हालांकि, समुदाय के मुताबिक, देश में हिंदुओं की जनसंख्या 90 लाख से अधिक है. पाकिस्तान में अधिकतर हिंदू आबादी सिंध प्रांत में रहती है, जहां वे संस्कृति, परंपरा और भाषा मुस्लिम निवासियों के साथ साझा करते हैं.