Saturday, July 20, 2024
Latest Newsबड़ी खबरशिक्षा रोजगार

क्या सेना में धर्म और जाति के आधार पर होगी भर्ती ? जानें मोदी सरकार का जवाब

सेना की बहाली में जाति पूछे जानें का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. सोशल मीडिया पर यह बहस का विषय बन चुका है. इस मामले पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री स्मृति ईरानी का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सेना और केंद्रीय बलों में चयन धर्म और जाति देखकर नहीं, बल्कि योग्यता के आधार पर होता है.

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री स्मृति ईरानी ने लोकसभा में द्रमुक सांसद डी रविकुमार के प्रश्न के लिखित उत्तर में यह टिप्पणी की. दरअसल रवि कुमार ने सवाल किया था कि क्या सरकार के पास ऐसा कोई प्रस्ताव है कि ‘अग्निपथ’ योजना के तहत मुस्लिम और अन्य अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों की भर्ती पर जोर दिया जाए ?

इस सवाल का जवाब देते हुए केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि सशस्त्र बलों में योग्यता आधारित भर्ती होती है और इसमें हर नागरिक के लिए समान अवसर होते हैं. जाति, वंश, वर्ग या धर्म आधारित भेदभाव के बिना चयन होता है, बस यह जरूरी है कि अभ्यर्थी तय आयुसीमा, शारीरिक, चिकित्सा और शैक्षणिक योग्यता पूरी करता हो.

आगे केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री स्मृति ईरानी ने यह भी कहा कि अग्निपथ योजना सुप्रीम कोर्ट के विचाराधीन है. एक अन्य प्रश्न के उत्तर में मंत्री ने कहा कि गृह मंत्रालय ने सूचित किया है कि केंद्रीय अर्द्धसैनिक बलों में चयन योग्यता के आधार पर होता है. योग्यता आधारित चयन में धर्म कोई पैमाना नहीं होता.