Friday, March 1, 2024
Latest Newsखेलबड़ी खबर

IPL 2022 : महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ी, CSK की कमान जडेजा को

MS Dhoni/IPL 2022 : दिग्गज क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी को लेकर एक खबर आई जो उनके फैंस के बीच चर्चा का विषय बनी हुई है. दरअसल चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) की 12 सत्र तक अगुवाई करने, उसे चार खिताब दिलाने और पांच बार उप विजेता बनाने के बाद दिग्गज धोनी ने शनिवार से शुरू हो रहे इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से पहले गुरुवार को एक बड़ा फैसला किया. उन्होंने इस फ्रेंचाइजी की कप्तानी अपने विश्वसनीय रविंद्र जडेजा को सौंपने का काम किया.

IPL 2022 : महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी छोड़ी, CSK की कमान जडेजा को इस संबंध में सीएसके ने अपने संक्षिप्त बयान में कहा कि 40 वर्षीय धोनी इस सत्र में और आगे भी फ्रेंचाइजी का प्रतिनिधित्व करते रहेंगे. आपको बता दें कि धोनी 2008 में टूर्नामेंट की शुरुआत से ही सीएसके के कप्तान रहे. इस बीच केवल दो साल उन्होंने सीएसके की अगुवाई नहीं की क्योंकि तब स्पॉट फिक्सिंग मामले के कारण टीम पर दो साल का प्रतिबंध लगाया गया था.

सीएसके ने यहां जारी बयान में कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी किसी अन्य खिलाड़ी को सौंपने का फैसला किया है और उन्होंने टीम का नेतृत्व करने के लिए रविंद्र जडेजा को चुना है. जडेजा 2012 से चेन्नई सुपर किंग्स का अभिन्न अंग रहे हैं और वह सीएसके का नेतृत्व करने वाले केवल तीसरे खिलाड़ी होंगे.

फ्रेंचाइजी ने बयान में कहा है कि धोनी इस सत्र में और उसके बाद भी चेन्नई सुपर किंग्स का प्रतिनिधित्व करते रहेंगे. यहां चर्चा कर दें कि पंद्रह अगस्त 2020 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा करने वाले धोनी की अगुवाई में सीएसके ने पिछले साल अपना चौथा खिताब जीता था. सीएसके शनिवार को यहां अपने पहले मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स का सामना करेगा. सीएसके की कप्तानी इससे पहले धोनी के अलावा सुरेश रैना ने की है. जडेजा उसके तीसरे कप्तान होंगे.

जडेजा ने सीएसके ट्विटर हैंडल पर जारी वीडियो में कहा कि अच्छा लग रहा है लेकिन मुझे बहुत बड़ी जिम्मेदारी निभानी होगी. उन्होंने कहा कि माही भाई ने एक विरासत स्थापित की है और हमें इसे आगे बढ़ाने की जरूरत है. उम्मीद है कि मैं इसमें सफल रहूंगा. मुझे ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि वह यहां मेरे साथ ही रहेंगे और मुझे जब भी जरूरत पड़ेगी मैं निश्चित रूप से उनके पास जाऊंगा.

विश्व कप विजेता कप्तान धोनी ने चाहे कप्तानी छोड़ने की बात हो या संन्यास लेने की, हमेशा अपने मन की बात सुनी. उन्होंने 2014 में आस्ट्रेलिया में श्रृंखला के बीच में टेस्ट कप्तानी छोड़ने के साथ लंबे प्रारूप से भी संन्यास ले लिया था और जब विराट कोहली सभी प्रारूपों में देश की अगुवाई करने के लिये तैयार हुए तो उन्होंने 2017 में उनके लिये जगह खाली कर दी थी. यह प्रेरणादायी कप्तान हालांकि अनुठी शैली में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी आईपीएल में खेलता रहा और इसलिए उनका सीएसके की कप्तानी जडेजा को सौंपना चौंकाने वाला फैसला नहीं है. धोनी जानते थे कि वह हमेशा टीम की कमान नहीं संभाल सकते हैं और बेहतरीन फॉर्म में चल रहे जडेजा कमान संभालने के लिये तैयार हैं.

सीएसके ने जडेजा के अलावा धोनी, मोईन अली और रुतुराज गायकवाड़ को अपनी टीम में ‘रिटेन’ किया था. धोनी की घोषणा से सीएसके के सीईओ कासी विश्वनाथन भी हैरान थे लेकिन उन्होंने कहा कि यदि धोनी ने फैसला किया है तो यह टीम के सर्वश्रेष्ठ हित में होगा.