Saturday, July 20, 2024
Latest Newsबड़ी खबरलाइफ स्टाइल

दर्द में पेनकिलर खाने से पहले पढ़ लें ये खबर

भागदौड़ भरी जिंदगी में आप भी पड़े हैं तो ये खबर आपके काम की है. जी हां…आजकल अनहेल्दी खान-पान और गलत जीवनशैली की वजह से अपने देश में लोगों में लाइफस्टाइल डिजीजेज जैसे- डायबिटीज, ब्लड प्रेशर आदि के मामले तेजी से बढ़ चुके हैं. इसका सीधा असर किडनी की सेहत पर पड़ता है.

अमूमन देखा गया है कि कई लोग शरीर में दर्द, सिरदर्द आदि होने पर अपने मन से पेनकिलर दवाइयां ले लेते हैं. अगली बार जब भी पेनकिलर दवाई लें, तो अपनी किडनी को जरूर याद करने का काम करें. यदि आपको दर्द की समस्या लगातार है, तो इसका सही इलाज के लिए डॉक्‍टर से संपर्क करें, न कि पेनकिलर्स खाकर फौरी तौर पर राहत लें. यदि आप डायबिटीज या ब्लड प्रेशर के मरीज हैं, तो आपको अधिक सतर्क रहने की जरूरत है.

लक्षणों की न करें अनदेखी
किडनी के स्वस्थ होने पर व्यक्ति हार्ट अटैक के रिस्क से भी बचता है. यूरिन बनने की प्रक्रिया भी किडनी से ही शुरू होती है, इसलिए जब भी यूरिन में समस्या आती है, तो आमतौर पर इसका सीधा संबंध किडनी से होता है. किडनी में ऐसी किसी भी बीमारी के होने की आशंका हो, तो बिना देर किये नेफ्रोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए. अर्ली स्टेज में बीमारी पकड़ में आने पर आगे का ट्रीटमेंट प्लान हो सकता है. अगर आपको बीपी और शुगर की परेशानी है, तो इन लक्षणों को बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए.

-भूख कम लगना, वजन तेजी से घटना.

-आंखों के नीचे, हाथों, पैरों व टखने में सूजन.

-खून की कमी यानी एनीमिया.

-यूरिन में ब्लड आना, बार-बार पेशाब आना.

-नींद आने में परेशानी.

-स्किन का ड्राइ होना और खुजली.

-यूरिन में झाग आना.

किडनी का ख्याल रखने में न बरतें कोताही

किडनी रोग के प्रकार
-क्रोनिक किडनी डिजीज

-किडनी में स्टोन

-ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस

-पॉलिसिस्टिक किडनी डिजीज

-यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन