Virat Kohli ने कही दिल की बात, छोड़ी टी-20 कप्तानी

दुनिया के दिग्गज बल्लेबाजों में शुमार विराट कोहली (Virat Kohli) ने जब गुरुवार को अपने दिल की बात कही तो पूरा क्रिकेट जगत चौंक गया. जी हां उन्होंने ऐलान किया कि वह टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) के बाद इस फॉर्मेट में टीम इंडिया की कमान नहीं संभालेंगे. विराट ने ट्वीट कर यह बात आपने चाहने वालों से ही. उनके इस ऐलान के बाद BCCI प्रमुख सौरव गांगुली ने कहा कि विराट भारतीय क्रिकेट के लिए ऐसेट रहे हैं और उन्होंने शानदार नेतृत्व किया है. वह सभी प्रारूपों में सबसे सफल कप्तानों में से एक हैं. भविष्य के रोडमैप को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिया गया है. T20 कप्तान के रूप में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए हम उन्हें धन्यवाद…

विराट कोहली ने लिखा कि वह टी20 वर्ल्ड कप के बाद सबसे छोटे फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ देंगे. हालांकि बतौर बल्लेबाज टीम में नजर आयेंगे. विराट ने अंग्रेजी में एक लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखा है. उन्होंने सभी को शुक्रिया भी कहा…

आइए आपको बताते हैं कि विराट ने पोस्ट में क्या लिखा है-
यह मेरा सौभाग्य रहा कि ना सिर्फ भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर मिला बल्कि अपनी पूरी क्षमता के साथ टीम का नेतृत्व भी करने का मौका मुझे मिला. मैं सभी का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी के इस सफर में मेरा साथ दिया. मैं इनके बिना कुछ नहीं कर सकता था- टीम के खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ, चयन समिति, मेरे कोच और हरेक भारतीय जिसने हमारी जीत के लिए प्रार्थना की. यह समझते हुए कि वर्कलोड बेहद महत्वपूर्ण होता है. अपने इसी वर्कलोड को पिछले 8-9 साल से लगातार संभालते हुए, तीनों फॉर्मेट में खेलना, 5-6 साल से लगातार कप्तानी करते हुए मैं यह मानता हूं कि मुझे टेस्ट और वनडे क्रिकेट में भारतीय टीम का नेतृत्व करने के लिए पूरी तरह तैयार होने में खुद को वक्त देने की जरूरत है. मैंने टी20 फॉर्मेट में कप्तानी संभालते हुए टीम को अपना सबकुछ दिया है और मैं एक बल्लेबाज के तौर पर भविष्य में भी योगदान देता रहूंगा.

जाहिर तौर पर, इस फैसले पर पहुंचने में मुझे काफी समय लगा. मैंने अपने करीबी लोगों से काफी चर्चा की. रवि शास्त्री, रोहित शर्मा जो कि टीम के अहम सदस्य हैं उनसे बातचीत के बाद ही मैंने यह फैसला लिया. मैंने फैसला किया है कि यूएई में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप के बाद मैं टी20 टीम की कप्तानी छोड़ दूंगा. बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह, सभी सेलेक्टर्स से भी मैंने इस पर चर्चा की है. मैं अपनी पूरी क्षमता के साथ भारतीय टीम की सेवा करना जारी रखूंगा.’