Bihar Election : फिर नीतीश सरकार या तेजस्वी मारेंगे बिहार की बाजी? जानें क्या कहता है एग्जिट पोल

बिहार विधानसभा चुनाव में तीसरे चरण की वोटिंग खत्म होने के बाद अब सबकी नजर रिजल्ट पर है. मतों की गणना तो 10 नवंबर को शुरू होगी, लेकिन आज एग्जिट पोल के आंकड़े इशारा कर रहे हैं कि एनडीए और महागठबंधन में कांटे की टक्कर बिहार में दर्ज की है.

रिपब्लिक-जन की बात के एग्जिट पोल में दावा किया गया है कि एनडीए को 91 से 117 सीटें, महागठबंधन को 118 से 138 और अन्य को तीन से छह सीटें मिलेंगी.

सी वोटर्स की मानें तो, एनडीए को सबसे ज्यादा 37.7% फीसदी वोट प्राप्त हो सकते हैं, लेकिन सीटों के मामले में महागठबंधन कुछ आगे निकल सकता है. महागठबंधन को 36.3% वोट मिलते नजर आ रहे हैं. आपको बता दें कि बिहार में 243 विधानसभा सीटों के लिए करोड़ों वोटर्स ने तीन चरणों में मताधिकार का प्रयोग किया है.

टाइम्स नाऊ सी-वोटर की मानें तो, बिहार में एनडीए (NDA) को 116, महागठबंधन (Mahagathbandhan) को 120 , लोजपा को एक और अन्य को 6 सीटें मिल सकते हैं.

एबीपी सी-वोटर के अनुसार, जदयू को 37.7 फीसदी वोट मिल सकते हैं. राजद को 36 फीसदी से थोड़े ज्यादा वोट मिलने के आसार हैं. सीटों की बात करें तो एनडीए को 104-128 सीटें, महागठबंधन को 108-131 सीटें, लोजपा को 1-3 सीटें औऱ अन्य को 4-8 सीटें मिलने का दावा किया गया है.

इंडिया टुडे-आजतक एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल के आंकड़े के अनुसार 42 फीसदी लोगों ने बिहार में विकास को मुद्दा माना है जबकि 30 फीसदी लोगों ने बेरोजगारी मुद्दे पर मताधिकार का प्रयोग किया है.

पहली पसंद : आजतक एक्सिस माई इंडिया का एग्जिट पोल के नतीजों में दावा किया गया है कि एनडीए को 42 फीसदी महिलाओं ने पसंद किया है वहीं 43 फीसदी महिला मतदाताओं की पहली पसंद तेजस्वी यादव की महागठबंधन बनी है. 18 से 35 आयु वर्ग के 47 फीसदी मतदाता तेजस्वी को पसंद कर रहे हैं. वहीं 34 फीसदी लोग नीतीश कुमार को पसंद कर रहे हैं.

एबीपी सी वोटर एग्जिट पोल : एबीपी सी वोटर एग्जिट पोल के नतीजों का दावा है कि बिहार में तेजस्वी यादव की लहर दिख रही है. राजद ने इस बार के चुनाव में 144 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, जिसमें से उन्हें सबसे ज्यादा 81 से 89 सीटें मिलती दिख रही हैं. राजद के बाद बिहार में सबसे ज्यादा सीटें भाजपा को मिल सकती है. इस चुनाव में भाजपा को 66-74 सीटें मिलती दिख रही हैं. चुनावी मैदान में भाजपा ने इस बार 110 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे.

टुडेज चाणक्य एग्जिट पोल : टुडेज चाणक्य एग्जिट पोल के सर्वे की मानें तो उसकी ओर से दावा किया गया है कि 63 फीसदी लोग बिहार सरकार बदलने का मन बना चुके हैं. 27 फीसदी लोगों ने कहा कि वो सरकार नहीं बदलने के पक्ष में हैं. वोटिंग पर किस मुद्दे ने असर डाला? इस पर 35 फीसदी लोगों ने बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा माना. 19 फीसदी लोगों की नजर में भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा रहा. 34 फीसदी लोगों के लिए अन्य मुद्दे रहे.



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *