Yellow Fungus News : अब येलो फंगस ने दी दस्तक, ब्लैक और वाइट से भी ज्यादा खतरनाक है ये, जानें इसके लक्षण

Yellow Fungus News : कोरोना महामारी से देश अभी उबी भी नहीं पाया था कि ब्लैक और व्हाइट फंगस ने दस्तक दे दी. इस बीमारी ने कई लोगों की जिंदगी लील ली. इस बीच एक और चिंता बढाने वाली खबर आ रही है. दरअसल ब्लैक और व्हाइट फंगस के बाद अब येलो फंगस की इंट्री ने डॉक्टरों की चिंता बढ़ाने का काम किया है. गाजियाबाद में येलो फंगस का एक मरीज मिला है.

येलो फंगस को लेकर डॉक्टरों ने बताया कि जिस मरीज में येलो फंगस मिला है वह 45 साल का है. युवक पहले कोरोना संक्रमित हो चुका है और इस समय डायबिटीज से भी पीड़ित है. डॉक्टरों की मानें तो ब्लैक फंगस मरीज का इलाज करने के लिए ओटी में सफाई चल रही थी, इसी दौरान जांच में पता चला कि मरीज येलो फंगस से भी संक्रमित हो चुका है. हालांकि मरीज की हालत में पहले से सुधार नजर आ रहा है.

डॉ.बीपी त्यागी ने क्या कहा : गाजियाबाद के इएनटी स्पेशलिस्ट डॉ.बीपी त्यागी ने इस संबंध में जानकारी दी कि रविवार को संजय नगर से मेरे पास एक मरीज आया था. एंडोस्कोपी टेस्ट में यह बात सामने आई कि उसे ब्लैक, व्हाइट और येलो फंगस है. येलो फंगस रेप्टाइल्स में पाया जाता है. पहली बार मैंने इसे इंसानों में देखा है.


येलो फंगस आखिर कितना खतरनाक : ब्लैक और व्हाइट फंगस के बाद येलो फंगस की पुष्टि से डॉक्टर चिंतित हैं. डॉक्टरों के मुताबिक इस बीमारी को म्यूकर स्पेक्टिक्स कहा जाता है जो येलो फंगस ब्लैक और व्हाइट फंगस से भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है. यह इस हद तक खतरनाक हो सकता है कि मरीज की जान भी ले सकता है. डॉक्टरों का कहना है कि अभी यह येलो फंगस छिपकली और गिरगिट जैसे जीवों में पाया जाता था. यही नहीं यह जिस रेपटाइल को फंगस होता है वह जिंदा नहीं बचता, इसलिए इसे बेहद खतरनाक और जानलेवा कहा जा सकता है.

येलो फंगस के लक्षण के बारे में जानें

-नाक का बंद होना

-शरीर के अंगों का सुन्न होना

-शरीर में टूटन होना और दर्द रहना

-शरीर में अत्यधिक कमजोरी होना

-हार्ट रेट का बढ़ जाना

-शरीर में घावों से मवाद बहना

-शरीर कुपोषित सा दिखने लगना