New Coronavirus Strain: क्या कोरोना के नए स्ट्रेन के लक्षण भी अलग हैं ? जानें…

क्या दुनिया एक बार फिर लॉकडाउन की ओर बढ रही है ? दरअसल हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नये प्रकार (स्ट्रेन) के तेजी से पांव पसारने के बाद दुनिया में डर का माहौल है. भारत सहित कई देशों ने जहां विमानों की आवाजाही पर रोक लगाने का काम किया है. वहीं, कई देशों ने ब्रिटेन से लगी अपनी सीमाएं बंद कर दी हैं.

भारत के नागर विमानन मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के नये स्वरूप के उभार के मद्देनजर 23 से 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से भारत आने-जाने वाली उड़ानें रद्द रहेंगी. मंत्रालय ने कहा कि मंगलवार की रात 11 बज कर 59 मिनट के बाद न ब्रिटेन से कोई विमान भारत न तो आयेगा और न ही भारत से जायेगा. वहीं, ब्रिटिश उड़ानों से भारत आनेवाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर आरटी-पीसीआर तरीके से कोरोना जांच की जायेगी. इस बीच नये स्ट्रेन को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की अगुआई में संयुक्त निगरानी समूह की सोमवार को अापात बैठक हुई. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार सतर्क है और घबराने की जरूरत नहीं है. ब्रिटिश सरकार ने चेतावनी दी है कि वायरस का नया प्रकार बेकाबू है. इधर, दक्षिण अफ्रीका  इटली, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस समेत कई देशों में नया वायरस फैल गया है. 

70 फीसदी अधिक तेजी से फैलने की आशंका: पिछले दिनों ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि कोरोना का एक नया प्रकार पहले के वायरस के मुकाबले 70 प्रतिशत अधिक तेजी से फैल रहा है. लंदन व दक्षिण इंग्लैंड में ज्यादा खतरा है.

आप भी जानें क्या है स्ट्रेन : आइए हम आपको स्ट्रेन के बारे में बताते हैं. दरअसल किसी भी वायरस में लगातार म्यूटेशन होता रहता है यानी इसके गुण बदलते रहते हैं. म्यूटेशन होने से ज्यादातर वेरिएंट खुद ही खत्म हो जाते हैं. हालांकि, कई बार यह पहले से कई गुना ज्यादा मजबूत और खतरनाक होकर सामने आते हैं. यह प्रक्रिया इतनी तेजी से होती है कि एक रूप को समझने से पहले ही नया रूप सामने आ जाता है. तब तक वायरस एक बड़ी आबादी को अपनी चपेट में ले चुका होता है.

कहां से आया स्ट्रेन: खबरों की मानें तो वायरस का यह प्रकार या तो ब्रिटेन में किसी मरीज में उत्पन्न हुआ या ऐसे देश से आया, जहां कोरोना वायरस के म्यूटेशन पर निगरानी रखने की क्षमता कम है.

क्या इसके लक्षण अलग हैं? : कोविड के नए वैरिएशन के लक्षण ख़तरनाक हैं या नहीं इसका पता अभी नहीं चला है. हालांकि, मेडिकल अधिकारियों की मानें तो यह पिछले स्ट्रेन से 70 प्रतिशत ज़्यादा संक्रामक है. इसका मतलब ये हुआ कि ये वायरस पिछले स्ट्रेन से कहीं तेज़ी से फैल सकता है. नए संस्करण के साथ अब तक दर्ज किए गए अधिकांश मामलों में- मतली, गंध खत्म होना, खांसी, बुखार और ठंड लगना जैसे लक्षण ही देखे गए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *