Diwali 2020 : 499 साल बाद दिवाली पर बन रहा ये दुर्लभ योग, जानें किन राशियों को होगा लाभ और किसे होगा नुकसान

Diwali 2020 Date, Rare Yoga Of Deepawali, Laxmi Puja Vidhi, Mantra, Shubh Muhurat, Tithi: इस साल दिवाली ग्रहों का बड़ा खेल नजर आएगा. 499 वर्ष बाद यह दुलर्भ संयोग बनेगा. तंत्र पूजा और दिवाली का खास कनेक्शन है. तंत्र पूजा के लिए दिवाली का दिन खास होता है. इस वर्ष 14 नवंबर को दिवाली है. इस साल यह पर्व शनिवार को पड रहा है. ज्योतिषों के अनुसार सन 1521 के 499 साल बाद 2020 में ग्रहों का दुलर्भ योग देखने को मिलेगा.

दरअसल, 14 नवंबर को देश भर में दिवाली में गुरु ग्रह अपनी राशि धनु में और शनि अपनी राशि मकर में विराजमान होंगे. वहीं, शुक्र ग्रह कन्या राशि में नीच रहेगा. इन तीनों ग्रहों का यह दुर्लभ योग वर्ष 2020 से पहले सन 1521 में 9 नवंबर को देखने को नजर आया था. इसी दिन उस वर्ष दीपों का पर्व दिवाली मनाई गई थी.

क्या होगा लाभ : यदि आपको जानकारी ना हो तो बता दें कि गुरु और शनि आर्थिक स्थिति को मजबूत करने वाले ग्रह माने जाते है. ऐसे में यह दिवाली आपके लिए कई शुभ संकेत लेकर आया है. इसलिए इसे व्यर्थ ना जाने दें.

दीपावली का शुभ मुहूर्त : 14 नवंबर को चतुर्दशी तिथि होगी जो दोपहर 1:16 तक रहेगी. इसके बाद अमावस तिथि शुरू हो जाएगा जो 15 नवंबर की सुबह 10:00 बजे तक रहेगा. हालांकि, 15 तारीख को केवल स्नान दान की अमावस्या होगी. उल्लेखनीय है कि लक्ष्मी पूजा संध्याकाल या रात्रि में की जाती है. दिवाली में मां लक्ष्मी के साथ-साथ श्री यंत्र की पूजा की जाती है. ज्योतिषों के अनुसार इस दिवाली गुरु धनु राशि में रहेगा ऐसे में यदि आप श्री यंत्र की पूजा रात भर कच्चे दूध से करने हैं तो यी अत्यंत लाभकारी होगा. इधर, शनि अपनी मकर राशि में विराजमान रहेगी. इस दिन अमावस्या का योग भी है. ऐसे में तंत्र-यंत्र की पूजा करना इस दिन आपको लाभ पहुंचाएगा.

नोट: किसी भी चीज का पालन करने के पहले ज्योतिष या पंडित की सलाह ले लें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *