कितना नमक खाना चाहिए रोज ?

कई लोग खाने में नमक का सेवन ऊपर से भी ज्यादा ही करते नजर आते हैं. इससे सवाल उठता है कि क्या ज्यादा नमक खाना शरीर के लिए लाभदायक है या इससे नुकसान होता है. दरअसल सोडियम शरीर के तरल पदार्थों को नियंत्रित करने का काम करता है और मानव शरीर के अंदर विद्युत आवेगों को भी संचारित करना इसका काम है.

सोडियम का सेवन हम नमक के रूप में अपने आहार में करते हैं. हालांकि नमक  को संतुलित मात्रा में ही लेना चाहिए. इसका अधिक सेवन और कमी दोनों हमारे शरीर को नुकसान पहुंचा सकती है. अधिक नमक का सेवन करने से कई बीमारियां जन्म ले लेतीं हैं. अधिक नमक के इस्तेमाल से उच्च रक्तचाप यानी हाई ब्लडप्रेशर की शिकायत लोगों को होती है. लगातार हाई बीपी रहने से हार्ट अटैक और किडनी डिजीज का खतरा बढ जाता है.

सोडियम के अधिक सेवन से शरीर में आयरन की कमी होती है, इससे पेट में एसिडिटी की समस्या उत्पन्न हो जाती है. शरीर में सूजन हो सकती है. हाथ-पांव फूल जाते हैं, जिसे oedema कहते हैं.


कम सेवन भी हानि : सोडियम का कम सेवन भी शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है. सोडियम की कमी से मांसपेशियों में खिंचाव, भ्रम, चिड़चिड़ापन, सिर दर्द, थकान, उल्टी एवं डायरिया का खतरा बढ जाता है. सोडियम की कमी से कोलेस्ट्रॉल एवं ट्राईग्लिसराईड में बढोतरी होती है जिससे हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है. हाइपोनेट्रेमिया की स्थिति होती है, जिससे मस्तिष्क में सूजन, सिरदर्द, कोमा की स्थिति तक बन जाती है. यदि ध्यान ना दिया जाए तो मृत्यु भी हो सकती है.

शरीर के लिए जरूरी है सोडियम : मस्तिष्क शरीर के सोडियम स्तर में बदलाव के प्रति बहुत संवेदनशील होता है. सोडियम की कमी से भ्रम व आलस्य की स्थिति पैदा हो सकती है. इसकी उचित मात्रा दिमाग को तेज रखने में मदद करती है. सोडियम की संतुलित मात्रा होने से हड्डी को नुकसान नहीं पहुंचता है. बढ़ती उम्र में त्वचा को हाइड्रेट करता है, जिससे त्वचा स्वस्थ बनी रहती है. यह उच्च तापमान पर सनसट्रोक के खतरे को कम करने का काम करता है. दांतों को सड़ने से बचाने, उसे साफ रखने तथा मुंह की दुर्गंध को दूर रखने के लिए सोडियम का उपयोग लोग करते है. यह शरीर में एसिड व बेस को संतुलित रखता है. यह शरीर में जमा कार्बन डायऑक्साइड की अतिरिक्त मात्रा को बाहर निकालने में अहम भूमिका निभाता है. यह कोशिकाओं को ग्लूकोज अवशोषण में भी मदद करता है.

नोट : नमक के सेवन को लेकर एक बार डायटिशियन या डॉक्टर की सलाह ले लें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *