Navratri 2022 : सुख और समृद्धि लेकर हाथी पर आ रहीं मां, जानें अक्टूबर में पड़ने वाले त्योहारों की तिथि

शारदीय नवरात्र का शुभारंभ 26 सितंबर से हो रहा है. बांग्ला और वाराणसी पंचांग के अनुसार इस वर्ष मां दुर्गा का आगमन गज (हाथी) पर हो रहा है. यह सुख और समृद्धि देनेवाला माना जाता है. वहीं, बांग्ला पंचांग के अनुसार मां का गमन नाव (शस्यवृद्धि व जल वृद्धि) पर हो रहा है. इसका भी फल शुभ माना जाता है. वाराणसी पंचांग के अनुसार मां का गमन मुर्गे (चरणायुद्ध) पर हो रहा है. नवरात्र का समापन पांच अक्तूबर को हो रहा है. राजधानी रांची मां के स्वागत को तैयार है. शहर में बन रहे आकर्षक पंडालों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. कलाकार प्रतिमाओं को भी अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं. जहां जहां पंडाल बन रहे हैं वहां आकर्षक विद्युत सज्जा से जगमगाने की भी पूरी तैयारी की जा रही है.

पंचांगों के अनुसार, इस बार सभी पर्व-त्योहारों का समापन अक्तूबर में ही हो जायेगा. आश्विन मास 11 सितंबर से शुरू हो चुका है. 15 दिनों के इस पक्ष में किसी भी तिथि का क्षय अथवा वृद्धि नहीं है. वहीं 26 सितंबर से शुक्ल पक्ष शुरू हो जायेगा. इस पक्ष में त्रयोदशी तिथि की हानि है, इस कारण से यह पक्ष 14 दिनों का होगा. कोरोना के दो साल बाद इस नवरात्र और दुर्गोत्सव को लेकर लोगों में काफी उत्साह है. राजधानी में इस बार प्रमुख पूजा समितियों ने बड़े-बड़े पंडालों का निर्माण कार्य शुरू कर दिया है. पंडालों के निर्माण में विभिन्न थीमों को ध्यान में रखा जा रहा है.

इस साल अक्तूबर में ही संपन्न हो जायेंगे सभी प्रमुख पर्व-त्योहार
26 सितंबर : प्रतिपदा
27 सितंबर : द्वितीया
28 सितंबर : तृतीया
29 सितंबर : श्री वैनायकी गणेश चतुर्थी व्रत
03 अक्तूबर : महाअष्टमी
04 अक्तूबर : महानवमी व विजयादशमी
05 अक्तूबर : दशमी व प्रतिमा का विसर्जन
06 अक्तूबर : पापकुंशा एकादशी
09 अक्तूबर : शरद पूर्णिमा, कोजागरा व लक्खी पूजा
10 अक्तूबर : कार्तिक मास प्रारंभ
13 अक्तूबर : करवा चौथ
17 अक्तूबर : अहोई अष्टमी
18 अक्तूबर : राधाअष्टमी
21 अक्तूबर : रंभा एकादशी
22 अक्तूबर : धनतेरस
23 अक्तूबर : छोटी दीपावली
24 अक्तूबर : दीपावली
26 अक्तूबर : गोवर्द्धन पूजा
27 अक्तूबर : भइया दूज व चित्रगुप्त पूजा
28 अक्तूबर : सूर्यषष्ठी व्रत का आरंभ
30 अक्तूबर : अस्ताचलगामी सूर्य को अर्घ्य
31 अक्तूबर : उदयाचलगामी सूर्य को अर्घ्य
01 नवंबर : गोपाअष्टमी
02 नवंबर : अक्षय नवमी
04 नवंबर : प्रबोधिनी एकादशी
05 नवंबर : चातुर्मास का समापन
07 नवंबर : व्रत की पूर्णिमा
08 नवंबर : कार्तिक पूर्णिमा (चंद्रग्रहण)