Saturday, April 13, 2024
Latest Newsअन्य खबरबड़ी खबरलाइफ स्टाइल

Woollen Allergy : ऊनी कपड़े न बनें एलर्जी की वजह, रखें इन बातों का ध्यान

ठंड का मौसम आ चुका है. त्वचा को सर्द हवाओं से बचाने के लिए गर्म ऊनी कपड़ों का उपयोग लो कर रहे हैं, लेकिन जरा-सी लापरवाही एलर्जी (Woollen Allergy)का कारण बन सकता है. कई लोगों को इनको पहनते ही स्किन एलर्जी सताने लगती है. हर वर्ष लगभग 10 से 15 प्रतिशत महिलाएं इस समस्या से पीड़ित नजर आती है. कई बार खराब तरीके से साफ किये गये कपड़े, कंबल, टोपी व स्कार्फ के कारण ऐसा होता है. वहीं, कई बार नये कपड़ों को खरीदने के बाद बिना धोये ही पहन लेते हैं, जिससे शरीर में खुजली या रैशेज हो जाते हैं. ये कई दिनों तक बने रहते हैं. एलर्जी की एक और वजह स्किन का ऊनी कपड़ों के सीधे संपर्क में आना भी है.

स तरह करें अपने त्वचा का बचाव (Woollen Allergy)
-ऊनी कपड़ों को बंद अलमारी से बाहर निकाल कर उनकी सफाई करें और कम-से-कम दो-तीन घंटे कड़ी धूप में उसे रहने दें.

-जिन लोगों को ऊनी कपड़े पहनने से शरीर में रैशेज हो जाते हैं, वे फुल स्लीव्स के कॉटन इनर वियर पहन सकते हैं.

-ऊनी कपड़ों में अमूमन आसानी से फंगस लग जाता है. ऐसे में उन्हें सप्ताह में एक बार धूप में जरूर सुखा लिया करें.

-विंटर वियर के नीचे हमेशा कॉटन अंडरक्लॉथ पहनें. यह ऊन को त्वचा के सीधे संपर्क में आने से रोकेगा.

-कपड़े पहनने से पहले पूरे शरीर पर लोशन लगाएं. नहाने के तुरंत बाद इसे लगाना सबसे अच्छा होता है.

-ज्यादा गर्म पानी की जगह गुनगुने पानी से नहाएं.

-यदि आपको किसी भी प्रकार की त्वचा की एलर्जी है, तो सही उपचार के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें.