गुलाब दवा भी, जानें ये खास बातें

गुलाब सिर्फ एक फूल नहीं है बल्कि यह बहुत ही उम्दा किस्म की दवाई भी है. लाल रंग के गुलाब में बहुत अधिक मात्रा में औषधीय गुण होते हैं. इसलिए लाल रंग के गुलाब का सेवन करना अच्छा माना जाता है. आप चाहें, तो इसे कच्चे ही खा सकते हैं या फिर इसकी पत्तियों से गुलकंद बनाकर भी खा सकते हैं.

-फायदे को जानिए-

-गुलाब में विटामिन सी बहुत मात्रा में पाया जाती है. गुलकंद रोज खाने से हड्डियां मजबूत होती हैं.

-कान में दर्द होने पर गुलाब की पत्तियों के रस की थोड़ी बूंदे कान में डालने से राहत मिलती है़

-गुलाब के अर्क में नींबू का रस मिलाकर दाद पर लगाने से दाद ठीक हो जाता है.

-गुलाब की पत्तियों को ग्लिसरीन डालकर पीस कर इस मिश्रण को होंठों पर लगा सकते है़ं इससे होंठ गुलाबी और चिकने हो जाते हैं.

-नींद न आने या तनाव रहने पर सिर के पास गुलाब रखकर सोने से अनिद्रा की समस्या दूर हो जायेगी.

-शरीर में जलन होने पर या हाथ पैर में जलन होने पर गुलाबजल को चंदन में मिलाकर इसका लेप लगायें.

-खाना खाने के बाद गुलकंद खाने से हाजमा ठीक रहता है.

-चंदन के तेल में गुलाब के अर्क को मिलाकर मालिश करने से शीत पित्त में फायदा मिलता है.

-मुंह की बदबू को दूर करने में मदद करता है.

-क्या कहता है आयुर्वेद-
गुलाब स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है. हृदय, कब्जियत, मुंह के छाले, चर्म रोग, पायरिया, बवासीर जैसी बीमारियों में इसका उपयोग किया जा सकता. इसके बनाये गये समान जैसे ठंडई, गुलकंद, तेल, शरबत सेहत के लिए लाभदायक है़ं यह शरीर की गर्मी को दूर करने के साथ पीत के विकार को भी दूर करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *