Hathras Gangrape : हाथरस जा रहे राहुल गांधी के साथ पुलिस की धक्कामुक्की, गिरे जमीन पर, Watch Photo and Video

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा को पुलिस ने गुरुवार को गैंगरेप की पीड़िता के परिवार से मुलाकात के लिए हाथरस जाने से रोक दिया और हिरासत में ले लिया, हालांकि पार्टी ने दावा किया कि दोनों नेताओं को गिरफ्तार करने का काम प्रशासन की ओर से किया गया है. कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से दावा किया, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और पार्टी के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.


पार्टी ने ट्विटर हैंडल पर कुछ तस्वीरें जारी कर दावा किया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने राहुल गांधी को रोकने के लिए उनके साथ धक्का-मुक्की की जिस कारण वो जमीन पर गिर गए. कांग्रेस सूत्रों की मानें तो, दोनों नेताओं के काफिले को ग्रेटर नोएडा पुलिस ने रोक लिया. उसके बाद वे पैदल ही हाथरस के लिये बढने लगे. कुछ देर पैदल चलने के बाद पुलिस ने उन्हें फिर रोक दिया.

कांग्रेस ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें पार्टी के पूर्व अध्यक्ष पुलिस से यह पूछते नजर आ रहे हैं कि उन्हें किस धारा के तहत ‘गिरफ्तार किया जा रहा है…’ पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रदेश में जंगलराज का यह आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है… उन्होंने ट्वीट किया, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दुख की घड़ी में अपनों को अकेला नहीं छोड़ा जाता…यूपी में जंगलराज का ये आलम है कि शोक में डूबे एक परिवार से मिलना भी सरकार को डरा देता है… इतना मत डरो, मुख्यमंत्री महोदय!”

प्रियंका ने आरोप लगाया कि उन्हें और राहुल गांधी को हाथरस जाने से रोकने के लिए पुलिस ने लाठियां चलाईं, लेकिन ‘अहंकारी सरकार’ की लाठियां उन्हें रोक नहीं सकतीं… उन्होंने अपने ट्विटर वॉल पर लिखा, ‘‘हाथरस जाने से हमें रोका…. राहुल जी के साथ हम सब पैदल निकले तो बार-बार हमें रोका गया, बर्बर ढंग से लाठियां चलाईं… कई कार्यकर्ता घायल हैं… मगर हमारा इरादा पक्का है..एक अहंकारी सरकार की लाठियां हमें रोक नहीं सकतीं… काश, यही लाठियां, यही पुलिस हाथरस की दलित बेटी की रक्षा में खड़ी होती….

क्या है मामला : गौरतलब है कि गत 14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की रहने वाली 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया था. लड़की को रीढ़ ही हड्डी में चोट और जीभ कटने की वजह से पहले अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था. उसके बाद उसे दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया था, जहां मंगलवार तड़के उसकी मौत हो गई थी. इस घटना को लेकर देश भर में जगह-जगह प्रदर्शन हुए थे.

पीएम मोदी ने की सीएम योगी से बात : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका संज्ञान लेते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फोन करके इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने को कहा था. राज्य सरकार ने इस मामले की जांच के लिये विशेष जांच दल गठित किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *