Madhya Pradesh by election 2020 : ये मामला शिवराज के लिए मुश्किलें ना पैदा कर दे

Madhya Pradesh by election 2020 : मध्य प्रदेश (MP By Poll) की सत्ता का भविष्य तय करने के लिए हो रहे 28 विधानसभा सीटों के उपचुनाव को लेकर गहमा गहमी तेज हो गई है. इस बीच उपचुनाव में शिवराज के लिए मध्यप्रदेश में शिक्षक भर्ती परेशानी पैदा कर सकता है. दरअसल उपचुनाव से पहले शिवराज सरकार को चयनित शिक्षक संघ, अतिथि विद्वान समेत कई अन्य युवाओं का रोष झेलना पड़ सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि आचार संहिता लगने के बाद भी नियमित शिक्षक संघ ने प्रदेश सरकार से एक निश्चित टाइम बाउंड में नियुक्तियां की जाने की मांग की है.

मामले को लेकर कांग्रेस का भी बयान आया है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि मैं सरकार से मांग करता हूं कि शिक्षक भर्ती- 2018 वर्ग 01, वर्ग 02 की प्रक्रिया को तत्काल पूर्ण करवा करवाया जाए और चयनित शिक्षकों अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्रदान शिवराज सरकार करने का काम करे. सरकार उनकी रोजगार की मांग को पूरा करें.

आगे उन्होंने कहा कि प्रदेश में शिक्षक भर्ती प्रक्रिया को बीच में रोक देने के कारण बड़ी संख्या में उच्च माध्यमिक तथा माध्यमिक चयनित शिक्षक परेशान होकर दर-दर भटक रहे हैं… बेरोजगारी के कारण वे इस महामारी में आर्थिक व मानसिक परेशानी के दौर से गुजर रहे हैं… मध्यप्रदेश में शिक्षक भर्ती से हमें कोई आपत्ति नहीं है…

मध्य प्रदेश में विधानसभा का गणित :  आइए एक नजर विधानसभा के गणित पर डालते हैं. मध्य प्रदेश में कुल विधानसभा सीट 230 हैं. बहुमत के लिए 116 सीट चाहिए. जो राजनीतिक दल या गठबंधन विधानसभा की 116 या उससे ज्यादा सीटें जीतेगी. वह सूबे में सरकार का गठन करेगी.

 
वर्तमान में क्या है स्थिति : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)-107 सीट, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के पास 88 सीट, बहुजन समाजवादी पार्टी (बसपा) के पास 2 सीट, समाजवादी पार्टी (सपा) के पास 1 सीट है जबकि अन्य / निर्दलीय विधायक सूबे में 4 हैं. उपचुनाव के लिए रिक्त सीटें 28 हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *