India China tension : एलएसी पर सर्दियों में डटे रहेंगे 40 हजार अतिरिक्त सैनिक

चीन ने पहली बार माना है कि गलवान घाटी की झड़प में भारतीय सेना ने उसके सैनिकों को मार गिराया था. इससे पहले तक चीन इस बात को मानने से इनकार कर रहा था. ग्लोबल टाइम्स के संपादक के मुताबिक, गलवान घाटी में चीन की सेना को नुकसान पहुंचा था और कुछ जवानों की जान गयी थी. इधर भारतीय सेना ने सर्दियों में सीमा पर डटे रहने की पूरी तैयारी कर ली है.

सर्दियों में पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर सेना ने 40 हजार अतिरिक्त सैनिकों के ठहरने का इंतजाम पूरा कर लिया है. टेंपररेरी शेल्टर बना दिये गये हैं जहां सर्दियों में भी सैनिक डटे रह सकते हैं. वैसे तो हर साल सर्दियों में भी वहां सैनिक तैनात रहते हैं, लेकिन बार एलएसी पर तनाव की वजह से 35 से 40 हजार अतिरिक्त सैनिक वहां तैनात किये गये हैं. अधिकारी के मुताबिक जो सैनिक पहले से ही वहां तैनात हैं उनके लिए तो रहने के सारे इंतजाम पहले से ही थे. इस बार सैनिकों की संख्या बड़ी है. इसलिए अतिरिक्त इंतजाम किये गये हैं. उन्होंने बताया कि कई जगह सिविल इंफ्रास्ट्रक्चर भी बनाये गये हैं जिनका शेल्टर के तौर पर इस्तेमाल किया जायेगा.

इसके अलावा गाड़ियों को रखने के लिए जो शेड्स बनाए गए हैं वह भी रहने के लिए इस्तेमाल हो सकते हैं. वहां टैंकों को रखने के लिए भी कई शेड्स हैं लेकिन अब जब टैंक बाहर हैं तो इन शेड्स का इस्तेमाल भी रहने के लिए हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *