US Election 2020 : ट्रंप के हारने पर क्या अमेरिका में भड़केगी हिंसा !

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोटिंग भी चल रही और नतीजे भी आने शुरू हो गये हैं डोनाल्ड ट्रंप के पक्ष में जाते नहीं नजर आ रहे हैं. रुझानों में बिडेन को बढ़त मिलती नजर आ रही है. ऐसे में सबके मन में सवाल उठ रहा है कि यदि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चुनाव में हार जाते हैं तो क्या होगा ? क्या वे नतीजों को स्वीकार करने से भी इनकार कर सकते हैं ? यदि आप भारत के निवासी हैं तो यह सुनकर आप चौंक गये होंगे लेकिन अमेरिका में ऐसा हो सकता है.

यदि आपको याद हो तो ट्रंप पहले ही डाक वाले वोटों को लेकर अपनी आशंका जाहिर कर चुके हैं. वे कह चुके हैं कि जरूरी नहीं कि हार की स्थिति में वो नतीजा मान ही लें…गौर हो कि चुनाव नतीजों को लेकर ट्रंप अड़ जाते हैं तो इसका अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट को सामने आना होगा और फैसला देना होगा.

हारने के बाद भी ट्रंप आर्मी के सुप्रीम कमांडर रहेंगे : सवाल ये है कि एक सत्तासीन राष्ट्रपति के पास ऐसी स्थिति में क्या क्या विकल्प मौजूद रह सकते हैं? उल्लेखनीय है कि डोनाल्ड ट्रंप 20 जनवरी 2021 तक अमेरिका के सैन्य बलों के सुप्रीम कमांडर के पद पर बने रहेंगे है. तो सवाल है कि क्या हार की स्थिति में वे सेना बुला सकते हैं? क्या सेना उनके आदेश को मानेगी?

यह आह्वान कर सकते हैं ट्रंप : यहां हम कुछ काल्पनिक स्थिति के बारे में आपको बताना चाहेंगे. यदि ट्रंप ये कहते हुए चुनाव नतीजों को मानने से इनकार कर दें कि इसमें धांधली हुई है. ऐसी स्थिति में अमेरिका में हिंसा भड़क सकती है. यदि आप लगातार अमेरिकी चुनाव पर नजर बनाकर रखे होंगे तो शायद यह जानते हों कि अमेरिका में हाल-फिलहाल में बड़े पैमाने पर बंदूकों की बिक्री हुई है. ट्रंप Proud Boys और  The Oath Keepers नाम के संगठनों से सड़क पर उतरने की अपील करते हुए ये वादा कर सकते हैं कि जल्द ही एक स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव आयोजित करने का काम किया जाएगा.

सशस्त्र संगठनों को सुरक्षा प्राप्त : अमेरिकी संविधान के दूसरे संशोधन के अनुसार ऐसे सशस्त्र संगठनों को सुरक्षा प्राप्त है. इस संशोधन को 1789 में पास किया गया था और 1791 में अनुमोदित किया गया था. एक और स्थिति ये है कि ट्रंप राष्ट्रपति चुनाव जीत जाएं, लेकिन ये जीत संदेह के घेरे में हो. ऐसी स्थिति में ट्रंप के विरोध में संगठन हथियारों के साथ सड़क पर उतर सकते हैं, इसके जवाब में ट्रंप के समर्थक भी सड़क पर उतरेंगे और भारी हिंसा हो सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *