Saturday, July 20, 2024
Latest Newsबड़ी खबरलाइफ स्टाइल

वसंती बयार के साथ खिलते हैं गेंदा और गुलदाउदी

माघ के महीने में हर किसी को बसंती बयार का एहसास होने लगता है. इस मौसम में घर और पार्कों की बगिया में लगे गेंदा, गुलाब सहित गुलदाउदी, जेनिया, डहेलिया, साल्विया आदि के फूल नयनाभिराम छटा पेश करती हैं. जहां बागों के माली अपनी मेहनत पर इतरा रहे होते हैं. वहीं घरों के गार्डन में बैठे और पार्कों में घूमने आये लोग रंग-बिरंगे फूलों का भरपूर लुत्फ उठाते हैं. फूल-पौधे घर की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं. वसंत का मौसम आते ही बागों में बहार छा जाती है.

इस मौसम में फूलों की इतनी वेरायटी होती है कि आप इनसे अपनी बगिया को खूबसूरत बना सकते हैं. इन दिनों शहर के कई पार्कों में लोग घूमने के बहाने हर किस्म के फूलों का दीदार करते नजर आ रहे हैं. इस मौसम में कई फूल-पौधे ऐसे हैं जो दिल को सुकून और मन को शांति देते हैं. पेश है फूलों पर एक रिपोर्ट.

जनवरी से लेकर मार्च तक होती है बिक्री गेंदा, गुलदाउदी और पैंजी पौधों की है मांग
इस मौसम में गुलदाउदी, गेंदा और पैंजी पौधे की विशेष मांग होती है. इस बारे में फूलों के विक्रेताओं ने बताया कि वसंत के मौसम में गार्डन के फूल अधिक खिलते हैं. इसमें गुलदाउदी और डहेलिया, गेंदा, सदाबहार, ओरहूल, पेटुनिया, गजीनिया, कंडोला और डंठस, जैसे कई पौधे उपलब्ध हैं. इस मौसम में भी लोग अपने गार्डन की खूबसूरती को बढ़ाने पर विशेष ध्यान देते हैं. इसकी खरीदारी कर रहे राजीव नगर के गोपाल और चंदन कहते हैं कि मुझे गार्डन में खूबसूरत फूलों को देखना पसंद है. इसलिए सीजनल पौधे खरीद रहे हैं, ताकि बसंत के मौसम में गार्डन की खूबसूरती और भी बरकरार रहे.

इस मौसम में लगाये जाने वाले खास फूल
गेंदा, कैंडुला, जेंथस, गजिनिया, टाइस्क, सस्कुलेट, फायर बॉल, अस्टर, सलविया, फेनजी, डाहलिया, डॉग फ्लावर, वरमिना, पेपर फ्लावर, गुलाब, कॉरनेशन, डेजी, पीटुनिया, जाफरी आदि.

इस मौसम में अधिक खिलते हैं पौधे
सीजनल पौधों की बात करें, तो स्पेशल पौधों की मांग जनवरी से लेकर मार्च तक होती है. विक्रेताओं का कहना है कि बसंत के अलावा गर्मी, बरसात हर मौसम में सीजनल पौधों की मांग होती है. ऐसे पौधे कोलकाता, बैंगलुरु, हाजीपुर और बनारस के अलावा भी अन्य जगहों से मंगाये जाते हैं.